Monday, August 29, 2011

मिरे प्यार की लचर कहानी

कहीं प्यार की अमर कहानी
मिरे प्यार की लचर कहानी

जीने को प्रायोजित बंधन
वहाँ प्रेम है समर कहानी

उपजे भाव प्रणय के दिल में
कहती है सब नज़र कहानी

परम्पराओं की बाधा जब
बने प्रेम तब लहर कहानी

प्रतिपल टूटी आशा के संग
सुमन प्रेम की कहर कहानी

14 comments:

प्रवीण पाण्डेय said...

एक एक घर जोड़ रहा हूँ,
कभी बनेगी शहर कहानी।

Sunil Kumar said...

जब उनसे मिलने का हो वादा
तभी वह बनेगी शाम सुहानी |
सुंदर अतिसुन्दर, हमने भी एक जोड़ दी

संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

मन के भावों को खूबसूरती से शब्द दिए हैं ..

अनुपमा त्रिपाठी... said...

उपजे भाव प्रणय के दिल में
कहती है सब नज़र कहानी
sunder bhav ...sunder rachna ..
badhai..

manoj said...

acchi kavita hai ....:)

गुड्डोदादी said...

श्यामल जी '
आशीर्वाद
उपजे भाव प्रणय के दिल में कहती है सब नज़र कहानी
परम्पराओं की बाधा जब बने प्रेम तब लहर कहानी

बहुत ही सुंदर भाव

S.M.HABIB (Sanjay Mishra 'Habib') said...

जीने को प्रायोजित बंधन
वहां प्रेम है समर कहानी

एक एक घर जोड़ रहा हूँ,
कभी बनेगी शहर कहानी।

वाह भईया... गज़ब के अशआर कहे हैं...
सादर बधाई...

Kusum Thakur said...

"उपजे भाव प्रणय के दिल में
कहती है सब नज़र कहानी"

श्यामल जी, क्या बात कही है......बधाई !!

चन्द्र भूषण मिश्र ‘ग़ाफ़िल’ said...

बहुत ख़ूब!!!

BHOOLI DASTAAN said...

याद करते है तुम्हे तनहाई में,
दिल डूबा है गमो की गहराई में,

गुड्डोदादी said...

दूर बहुत दूर वहाँ उस चाँद के आस-पास
गयी थी मन की पतंग"और फिर लौटी नहीं,

नन्हों said...

एक सांस में बस नाम ले लेना मेरा नाम

मुझे और कुछ नहीं चाहिए क्योंकि मैं भी इंसान हूँ

बस वही एक आस है, उतनी ही,

प्यास है, वही एक पल खास है

Archana thakur said...

सुमन प्रेम की कहर कहानी...भावों से परिपूर्ण अभिव्यक्ति..

प्यार की कहानी said...

Ek Achhi Amar प्यार की कहानी likha hai aapne.

Being in love is, perhaps, the most fascinating aspect anyone can experience.

Thank You

हाल की कुछ रचनाओं को नीचे बॉक्स के लिंक को क्लिक कर पढ़ सकते हैं -
विश्व की महान कलाकृतियाँ- पुन: पधारें। नमस्कार!!!