Friday, December 30, 2011

ये दुनिया तो सिर्फ मुहब्बत

आने वाले कल का स्वागत, बीते कल से सीख लिया
नहीं किसी से कोई अदावत, बीते कल से सीख लिया

भेद यहाँ पर ऊँच नीच का, हैं आपस में झगड़े भी
ये दुनिया तो सिर्फ मुहब्बत,
बीते कल से सीख लिया

हंगामे होते, होने दो, इन्सां तो सच बोलेंगे
सच कहना है नहीं इनायत,
बीते कल से सीख लिया

यह कोशिश प्रायः सबकी है, हों मेरे घर सुख सारे
क्या सबको मिल सकती जन्नत, बीते कल से सीख लिया

गर्माहट टूटे रिश्तों में, कोशिश हो, फिर से आए
क्या मुमकिन है सदा बगावत,
बीते कल से सीख लिया

खोज रहा मुस्कान हमेशा, गम से पार उतरने को
इस दुनिया से नहीं शिकायत, बीते कल से सीख लिया

भागमभाग मची न जाने, किसको क्या क्या पाना है
सुमन सुधारो खुद की आदत, बीते कल से सीख लिया

9 comments:

Urmi said...

बहुत ख़ूबसूरत रचना लिखा है आपने नये साल पर! आपको एवं आपके परिवार के सभी सदस्यों को नये साल की ढेर सारी शुभकामनायें !

काजल कुमार Kajal Kumar said...

वाह सुमन जी बहुत सुंदर.

गुड्डोदादी said...

श्यामल
आशीर्वाद
सबकी है कोशिश प्रायः कि, मेरे घर हों सुख सारे
क्या सबको मिल सकती जन्नत, बीते कल से सीख लिया
बहुत कटाक्ष पूर्ण अनोखी रचना
दुनियाँ रंग रंगीली बत्तीस दांतों में जिव्हां ने रहना सीख लिया

वन्दना said...

बहुत खूबसूरत रचना……………आगत विगत का फ़ेर छोडें
नव वर्ष का स्वागत कर लें
फिर पुराने ढर्रे पर ज़िन्दगी चल ले
चलो कुछ देर भरम मे जी लें

सबको कुछ दुआयें दे दें
सबकी कुछ दुआयें ले लें
2011 को विदाई दे दें
2012 का स्वागत कर लें

कुछ पल तो वर्तमान मे जी लें
कुछ रस्म अदायगी हम भी कर लें
एक शाम 2012 के नाम कर दें
आओ नववर्ष का स्वागत कर लें

प्रवीण पाण्डेय said...

भूत कहीं एकान्त पड़ा है,
तो भविष्य की बमचक क्यों

चन्द्र भूषण मिश्र ‘ग़ाफ़िल’ said...

बहुत सुन्दर प्रस्तुति वाह!...नववर्ष की मंगल कामना

kshama said...

आने वाले कल का स्वागत, बीते कल से सीख लिया
कोई करे क्यों यहाँ अदावत, बीते कल से सीख लिया
Behad sundar!
Aapko naya saal bahut,bahut mubarak ho!

S.M.HABIB (Sanjay Mishra 'Habib') said...

बहुत ही खूबसूरत गज़ल है सर... सादर बधाई और
नूतन वर्ष की सादर शुभकामनाएं

डॉ टी एस दराल said...

सार्थक प्रस्तुति ।
नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनायें सुमन जी ।

हाल की कुछ रचनाओं को नीचे बॉक्स के लिंक को क्लिक कर पढ़ सकते हैं -
विश्व की महान कलाकृतियाँ- पुन: पधारें। नमस्कार!!!