Thursday, June 23, 2016

वो कहानी आपकी

जिन्दगी भी आपकी है जिन्दगानी आपकी
मौत पे कहते जो अक्सर वो कहानी आपकी

राह अपने से बनाकर जो शुरू करते सफर
याद करते लोग सदियों तक निशानी आपकी

वक्त की पहचान करना वक्त पे मुश्किल जरा
चूकने पर कह रहे सब ये नदानी आपकी

कोशिशें पुरजोर करते ढंग सबके हैं अलग
आप हो जाते सफल तो बुद्धिमानी आपकी

देखकर मेरी फकीरी लोग जुडते ही गए
इक न इक कह दे सुमन से रातरानी आपकी

No comments:

हाल की कुछ रचनाओं को नीचे बॉक्स के लिंक को क्लिक कर पढ़ सकते हैं -
विश्व की महान कलाकृतियाँ- पुन: पधारें। नमस्कार!!!