Sunday, April 30, 2017

कर Delet, Photo सदा

नई नई तकनीक से, बढ़े देश का मान।
बाँट रहे सब मुफ्त में, WhatsApp पर ज्ञान।।

पढ़कर भी संदेश को, मिला न कोई Taste।
सभी भेजने में लगे, करके Copy, Paste।।

WhatsApp खोला जहाँ, Photo की भरमार।
व्यर्थ कई शुभकामना, पढ़ने को लाचार।।

डरते, Mobile कहीं, हो जाए ना जाम।
कर Delet, Photo सदा, Regular तेरा काम।।

WhatsApp के Group में, देखा रोज विवाद।
ज्ञानीजन जोड़ो नहीं, सुमन हृदय अवसाद।।

हिन्दी प्रेमियों से मुआफी की अपील के साथ

No comments:

हाल की कुछ रचनाओं को नीचे बॉक्स के लिंक को क्लिक कर पढ़ सकते हैं -
विश्व की महान कलाकृतियाँ- पुन: पधारें। नमस्कार!!!