Saturday, December 1, 2012

जगत है शब्दों का ही खेल

शब्द ब्रह्म कहलाते क्योंकि, यह अक्षर का मेल।
जगत है शब्दों का ही खेल।।

आपस में परिचय शब्दों से, शब्द प्रीत का कारण।
होते हैं शब्दों से झगड़े, शब्द ही करे निवारण।
कोई है स्वछन्द शब्द से, कसता शब्द नकेल।
जगत है शब्दों का ही खेल।।

शब्दों से मिलती ऊँचाई, शब्द गिराता नीचे।
गिरते को भी शब्द सम्भाले, या फिर टाँगें खींचे।
शासन का आसन शब्दों से, देता शब्द धकेल।
जगत है शब्दों का ही खेल।।

जीवन की हर दिशा-दशा में, शब्दों का ही मोल।
शब्द आईना अन्तर्मन का, सब कुछ देता बोल।
कैसे निकलें शब्द-जाल से, सोचे सुमन बलेल।
जगत है शब्दों का ही खेल।।

12 comments:

Anupama Tripathi said...

सुंदर सार्थक कविता....शुभकामनायें ...!!

धीरेन्द्र सिंह भदौरिया said...

बहुत सुन्दर सार्थक रचना,,

recent post : तड़प,,,

vandana gupta said...


आपस में परिचय शब्दों से, शब्द प्रीत का कारण।
होते हैं शब्दों से झगड़े, शब्द ही करे निवारण।
कोई है स्वछन्द शब्द से, कसता शब्द नकेल।
जगत है शब्दों का ही खेल।।

शब्दों के महत्त्व को बखूबी परिभाषित किया है।

काजल कुमार Kajal Kumar said...

वाह सुमन जी बहुत बढ़ि‍या. साधुवाद.

यशवन्त माथुर said...


कल 03/12/2012 को आपकी यह बेहतरीन पोस्ट http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर लिंक की जा रही हैं.आपके सुझावों का स्वागत है .
धन्यवाद!

प्रवीण पाण्डेय said...

रहे शब्द बस लब्ध, शेष सब व्यर्थ रहा।

चन्द्र भूषण मिश्र ‘ग़ाफ़िल’ said...

बहुत ख़ूब!
आपकी यह सुन्दर प्रविष्टि आज दिनांक 03-12-2012 को सोमवारीय चर्चामंच-1082 पर लिंक की जा रही है। सादर सूचनार्थ

चन्द्र भूषण मिश्र ‘ग़ाफ़िल’ said...

बहुत ख़ूब!
आपकी यह सुन्दर प्रविष्टि आज दिनांक 03-12-2012 को सोमवारीय चर्चामंच-1082 पर लिंक की जा रही है। सादर सूचनार्थ

जयकृष्ण राय तुषार said...

वाकई जगत शब्दों का खेल है |अच्छी रचना |

Anita said...

शब्द न होते... तो हम 'हम' ही कहाँ होते...
~सार्थक रचना !
~सादर !!!

Madan Mohan Saxena said...

आपके अद्भुत लेखन को नमन
बहुत सराहनीय प्रस्तुति.
बहुत सुंदर

गुड्डोदादी said...

होते हैं शब्दों से झगड़े, शब्द ही करे निवारण।
कोई है स्वछन्द शब्द से, कसता शब्द नकेल।
जगत है शब्दों का ही खेल।।
(नानक दुखिया सब संसार
एक माह आपके परिवार में रह कर आयी
बहुत बहुत धन्यवाद आभार

हाल की कुछ रचनाओं को नीचे बॉक्स के लिंक को क्लिक कर पढ़ सकते हैं -
विश्व की महान कलाकृतियाँ- पुन: पधारें। नमस्कार!!!