Tuesday, September 15, 2015

मूल्यों की अब शाम मुसाफिर

दफ्तर में आदेश मुसाफिर
खबर और संदेश मुसाफिर
बिकते सबकुछ भौतिकता में
बेचे जाते देश मुसाफिर
                                             अजब सियासी खेल मुसाफिर
                                             अलग कभी तो मेल मुसाफिर
                                             कैसे जीत उन्हें मिलती जो
                                             जाते अक्सर जेल मुसाफिर
मूल्यों की अब शाम मुसाफिर
ममता भी नीलाम मुसाफिर
जोड़ तोड़कर रिश्ते पाओ
माँ बनने के दाम मुसाफिर
                                            मिल जाते कुछ ठीक मुसाफिर
                                            कुछ दिल के नजदीक मुसाफिर
                                            किसी किसी को मिलते शायद
                                            अपने लिए सटीक मुसाफिर
रिश्ते कई अजीब मुसाफिर
प्रीतम मिले नसीब मुसाफिर
जिसके संग जीते क्या होते
दिल के वही करीब मुसाफिर
                                             एक बचाता जान मुसाफिर
                                             दूजा देता ज्ञान मुसाफिर
                                             शिक्षक और चिकित्सक मानो
                                             हैं जिन्दा भगवान मुसाफिर
करते सभी बखान मुसाफिर
गीता और कुरान मुसाफिर
सुमन आचरण देखो उनका
बेच रहे ईमान मुसाफिर

No comments:

हाल की कुछ रचनाओं को नीचे बॉक्स के लिंक को क्लिक कर पढ़ सकते हैं -
विश्व की महान कलाकृतियाँ- पुन: पधारें। नमस्कार!!!